authentic sports jerseys cheap
cheap authentic stitched nfl jerseys
Wednesday , 23 January 2019
Breaking News

जानते हैं आप? कोलंबो टेस्ट में कोहली सेना ने बनाए 15 बड़े विश्व रिकॉर्ड – दैनिक जागरण

जानते हैं आप? कोलंबो टेस्ट में कोहली सेना ने बनाए 15 बड़े विश्व रिकॉर्डजानते हैं आप? कोलंबो टेस्ट में कोहली सेना ने बनाए 15 बड़े विश्व रिकॉर्ड

नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और श्रीलंका के बीच कोलंबो में खेले गए टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने चौथे दिन ही पारी और 53 रनों की बड़ी जीत हासिल की। इसके साथ ही टीम ने कई रिकॉर्ड बनाए। रिकॉर्ड बनाने वाले खिलाड़ियों में विराट कोहली, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, चेतेश्वर पुजारा, लोकेश राहुल, अजिंक्य रहाणे समेत कई नाम हैं। आइए जानते हैं इनमें से कौन से हैं 15 बड़े रिकॉर्ड- 

 

1- अश्विन ने कोलंबो टेस्ट की पहली पारी में 69 रन देकर पांच विकेट अपने नाम किए। उन्होंने अपने टेस्ट करियर में 26वीं बार यह कारनामा किया है। अब वह इस मामले में भारतीय गेंदबाजों में केवल अनिल कुंबले (35 बार पारी में पांच विकेट) से ही पीछे हैं। इस मामले में उन्होंने हरभजन सिंह (25 बार) को पीछे छोड़ा है। 

 

2- रवींद्र जडेजा टेस्ट मैच में बाएं हाथ के गेंदबाज़ों में सबसे तेज़ 150 विकेट अपने नाम करने के मामले में पहले नंबर पर आ गए हैं। जडेजा ने सिर्फ 32 टेस्ट मैच खेलकर यह कारनामा किया है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन (34) को पीछे छोड़कर पहले नंबर पर जगह बनाई। 

 

3- 2017 में भारत ने दूसरी बार, चार बार किसी टेस्ट मैच में 600 या उससे ज्यादा रन बनाए हैं। भारतीय टीम के अलावा दुनिया की किसी भी टीम ने एक ही साल में इतनी बार 600 या उससे ज्यादा स्कोर टेस्ट क्रिकेट में नहीं बनाए हैं। इससे पहले भी भारतीय टीम ने ही यह कारनामा 2007 में अंजाम दिया था। 

 

4- अश्विन ने कोलंबो टेस्ट की पहली पारी में 54 रनों की अहम पारी के दौरान अपने करियर में एक और सितारा जोड़ा। अश्विन टेस्ट क्रिकेट में 2000 रन बनाने वाले और 200 विकेट लेने वाले खास ऑलराउंडर्स की लिस्ट में शामिल हो गए। सबसे तेजी से इस लिस्ट में शामिल होने के मामले में अश्विन केवल इयान बॉथम, कपिल देव और इमरान खान के पीछे हैं। उन्होंने यह मुकाम 51वें टेस्ट की 71वीं पारी में छुआ।  

 

5- कोलंबो टेस्ट की पहली पारी में भारतीय टीम के छह बल्लेबाजों ने 50 से ज्यादा रन बनाए। विदेशी धरती पर किसी टेस्ट मैच में दूसरी बार टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने ये कमाल किया। इससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने ये कमाल 2007 में ओवल में किया था। 50 या उससे ज्यादा रन बनाने वालों में लोकेश राहुल (57 रन), चेतेश्वर पुजारा (133 रन), अजिंक्य रहाणे (132 रन), आर. अश्विन (54 रन), रिद्धिमान साहा (67 रन) और रवींद्र जडेजा (नाबाद 70 रन) शामिल हैं। 

 

6- लोकेश राहुल ने कोलंबो टेस्ट की पहली पारी में अपने करियर का 8वां अर्धशतक बनाया। इसमें से 6 अर्धशतक तो उन्होंने लगातार लगाए हैं। पिछली 6 टेस्ट पारियों में वह हर बार पचास का आंकड़ा छू रहे हैं। इसी के साथ वो राहुल द्रविड़ और गुंडप्पा विश्वनाथ के साथ ये कमाल करने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी भी बन गए। इसमें मजेदार बात ये है कि ये तीनों ही धुरंधर खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में कर्नाटक की टीम से खेलते रहे हैं।

 

7- चेतेश्वर पुजारा ने अपने 50वें टेस्ट मैच (कोलंबो) को बेहद यादगार बना दिया। उन्होंने इसमें अपने करियर का 13वां शतक लगाया। अपने 50वें टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले वह 7वें भारतीय बल्लेबाज बने साथ ही दुनिया के 36वें बल्लेबाज बन गए। 

 

8- पुजारा ने इस पारी में 34वां रन बनाते अपने टेस्ट करियर के 4000 रन भी पूरे कर लिए। पुजारा ने यह उपलब्धि 50वें टेस्ट मैच में हासिल की है, मजे की बात यह है कि उन्होंने ऐसा करने में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली को भी पीछे छोड़ दिया है। सचिन ने 58 और विराट ने 52 मैचों में यह उपलब्धि हासिल की थी। 

 

9- कोलंबो टेस्ट में रहाणे ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए शतक बनाया। यह शतक रहाणे के टेस्ट करियर का नौवां शतक रहा। इस बल्लेबाज की खास बात ये है कि इन 9 में से छह शतक उन्होंने विदेश में बनाए हैं।

 

10- भारत ने पहली पारी के आधार पर 439 रनों की बढ़त ली। यह भारत द्वारा अब तक टेस्ट क्रिकेट में हासिल की गई तीसरी सबसे बड़ी बढ़त है। इससे पहले, भारत ने 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ ढाका में 492 रनों की बढ़त हासिल की थी। दूसरी सबसे बड़ी बढ़त 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता टेस्ट में 478 रनों की थी।

 

11- टेस्ट क्रिकेट में पहली बार किसी दो भारतीय खिलाड़ियों ने एक ही मैच में 50 से ज्यादा रन बनाए और 5 विकेट भी झटके। हालांकि विश्व क्रिकेट की बात करें तो अश्विन और जडेजा से पहले दो बार ऐसा कमाल हो चुका है। वर्ष 1895 में गिफेन और ट्रॉट ने इंग्लैंड के खिलाफ ये कमाल किया था और इसके बाद वर्ष 2011 में ब्रेसनन और स्टअर्ट ब्रॉड ने भी एक ही टेस्ट मैच में 50 या उससे ज्यादा रन और फिर पांच विकेट लेने का कमाल किया था। 

 

12- कोलंबो में जीत के साथ ही विराट कोहली भारत के इकलौते ऐसा कप्तान बन गए, जिन्होंने टीम इंडिया को श्रीलंका की धरती पर लगातार दो टेस्ट सीरीज में जीत दिलाई है। इससे पहले 2015 में भी विराट की कप्तानी में भारतीय टीम ने श्रीलंका को उसी की सरजमीं पर 2-1 से शिकस्त दी थी

 

13- आर. अश्विन और रवींद्र जडेजा दोनों ने ही इस टेस्ट मैच में 7-7 विकेट लिए। जडेजा ने पारी पांच विकेट लेने का कारनामा नौवीं बार किया है। 

 

14- कोहली श्रीलंका में 4 टेस्ट जीतने वाले इकलौते विदेशी कप्तान बन गए हैं। उन्होंने यहां 3 टेस्ट जीतने का रिकी पॉन्टिग का रिकॉर्ड तोड़ा। 

 

15- लगातार सीरीज जीतने के मामले में कोहली ने स्टीव वॉ को पछाड़ दिया। वॉ की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने लगातार 7 टेस्ट सीरीज जीती थी। बतौर कप्तान कोहली ने लगातार आठवीं टेस्ट सीरीज जीती है। अब केवल पोंटिंग ही कोहली से आगे हैं। जिनकी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीती थीं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Bharat Singh 

About editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Green Bay Packers Jerseys For All Of The Fans
Football Jerseys Hunt
Sports Briefs: Feeling Supersonic
Great Cycling Clothing
Bicycling Safety And Clothing Tips
Ideas For Party Theme - 4 Quick Party Themes
Find Cheap Nhl Jerseys Online
Green Bay Packers Jerseys For All Of The Fans
The Perfect Gift At A Sports Activities Fanatic
Breastfeeding Although Cheap Jerseys Pregnant
cheap jerseys
wholesale jerseys
cheap nfl jerseys
wholesale jerseys
cheap nba jerseys
wholesale nba jerseys
nba jerseys cheap
cheap jerseys