authentic sports jerseys cheap
cheap authentic stitched nfl jerseys
Monday , 22 April 2019
Breaking News

नज़रिया: कांग्रेस को डेडलाइन! क्या है हार्दिक पटेल की मजबूरी? – BBC हिंदी

हार्दिक पटेलइमेज कॉपीरइट
Getty Images

ऐसी संभावनाएं लगाई जा रही थीं कि गुजरात में पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल कांग्रेस को अपना समर्थन दे सकते हैं लेकिन शनिवार को उन्होंने एक ट्वीट कर चौंका दिया.

उन्होंने कांग्रेस को अल्टीमेटम देते हुए ट्वीट किय, “कांग्रेस पाटीदारों को संवैधानिक आरक्षण कैसे देगी, उस मुद्दे पर अपना स्टैंड 3 नवंबर तक क्लियर कर दे, नहीं तो अमित शाह जैसा मामला सूरत में होगा.”

जब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अहमदाबाद आए तब होटल ताज में हार्दिक पटेल की मुलाक़ात को लेकर काफ़ी विवाद हुआ. हार्दिक की मुलाकात हुई या नहीं हुई इस पर विवाद हुआ. मेरी जानकारी के अनुसार हार्दिक राहुल गांधी से मिले थे.

तभी हार्दिक ने राहुल के आगे अपनी बात रखते हुए कहा था कि अगर वह कांग्रेस में आते हैं तो उनकी पहली मांग को स्पष्ट रूप से बताया जाए कि पाटीदारों को आरक्षण कैसे मिलेगा. उसके लिए क्या संवैधानिक रास्ते होंगे, इस पर हार्दिक ने पूछा था.

अल्पेश के फ़ैसले से गुजरात चुनाव हुआ रोमांचक

बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा सकती है ये तिकड़ी

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

हार्दिक का अगला कदम

बीजेपी ने भी पाटीदारों को ईबीसी के तहत आरक्षण दिया था लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उसको ख़ारिज कर दिया. हार्दिक ने 3 नवंबर तक का वक्त कांग्रेस को दिया है. असल में वह चाहते हैं कि पाटीदारों को आरक्षण को लेकर बीजेपी ने जिस तरह ‘मूर्ख’ बनाया वैसे ही कांग्रेस न बना पाए.

क़ानूनी तौर पर आरक्षण किस तरह मिल पाएगा इसकी स्पष्टता हार्दिक की पहली प्राथमिकता है. इसमें कोई दो राय नहीं है कि पाटीदारों के युवा नेता हार्दिक पटेल की मुश्किलें बढ़ चुकी हैं.

उनको लग रहा है कि बीजेपी उनके समाज को आरक्षण नहीं दे रही है और अगर कांग्रेस भी नहीं दे पाई तो उनके लिए समस्याएं खड़ी हो जाएंगी.

इसकी बड़ी वजह यह है कि उन्होंने पहले से ही बीजेपी के ख़िलाफ़ रहने का तय कर लिया है और वह जमकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और बीजेपी के ख़िलाफ़ बोल रहे हैं.

गुजरात चुनाव में यूपी-बिहार की तरह जाति अहम?

पाटीदार नेताओं ने भाजपा को दिया दोहरा झटका

इमेज कॉपीरइट
Getty Images

तीसरा मोर्चा बनाएंगे?

इस सूरत में भी अगर कांग्रेस कोई रास्ता नहीं दिखा सकती है तो उनके लिए यह मुश्किल होना ज़ाहिर सी बात है कि वह कहां जाएं.

पिछले दस दिनों से हार्दिक पटेल गुजरात में चुनावों के मद्देनज़र सभाएं और रैलियां कर रहे हैं और जिस तादाद में लोग उनके साथ आ रहे हैं तो उससे ऐसी संभावनाएं ज़रूर लगाई जा सकती हैं कि वह एक तीसरे मोर्चे की तैयारी में हैं.

बीजेपी कुछ नहीं कर पाई है और अगर कांग्रेस भी कोई भरोसा नहीं दे पाती है तो वह पाटीदारों की एक नई पार्टी बना सकते हैं.

क्या गुजरात चुनाव को लेकर नर्वस हैं मोदी?

गुजरात में इस बार कमल का खिलना होगा मुश्किल?

(बीबीसी संवाददाता आदर्श राठौर से बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

About editor

Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Custom Trading Pins And Baseball Patches
How Clay Matthews' Retro Alternate Jersey Boosted My Nfl Interest
Why People Are Crazy About Nfl Tattoo Designs?
Some Ideas For Football Wedding Invitations
Mavs' Bench Brigade Takes Place Short In Game 1
Nfl To Purchase Refunds If Games Canceled By Labor Dispute
When It Comes To You Believe Get High Quality Nfl Jerseys
Wayne Gretzky Hockey Jerseys Are Which Is Available From All His Former Teams
Make Gift-Giving Special With Youth Nfl Football Jerseys
Football Celebration Ideas -Sure To Create A Touchdown With Each Of Your Guests
cheap jerseys
wholesale jerseys
cheap nfl jerseys
wholesale jerseys
cheap nba jerseys
wholesale nba jerseys
nba jerseys cheap
cheap jerseys