authentic sports jerseys cheap
cheap authentic stitched nfl jerseys
Friday , 20 April 2018
Breaking News

शहर जाए भाड़ में, नेता और अधिकारियों की पौबारह

20180403-101618pixlr_20180403102804238जयपुर। (निस): जयपुर में जहां हर एरिया में पोल है वहीं नगर निगम और जयपुर विकास प्राधिकरण भी इससे अछूता नहीं है। इस पोल के चलते जेडीए और नगर निगम जोन के क्षेत्राधिकार वाले इलाकों में अवैध निर्माणों की बयार देखने को मिलती है,लोकायुक्त तक शिकायत जाती है तो कागजी कार्यवाई को अंजाम देकर फाईल को दफ्तर ए दाखिल कर दी जाती है और कंधे से कंधा मिलाकर संबंधित अधिकारी और कर्मचारी खडे रहते है अवैध निर्माणकर्ता के साथ। खाई भली की माई भली के इस खेल में सबसे ज्यादा फायदा पहुंच रहा है जनप्रतिनिधियों,दिन दूना रात चौगुना के हिसाब से इनके द्वारा घोषित जायदाद में इजाफा हो रहा है, लेकिन IMG_20180403_083006जनता जर्नादन की आंखों में काजल डाल कर घूम रहे इन सफेदपोश जनप्रतिनिधियों की चमड़ी इतनी चिकनी हो चुकी है कि कोई तोड़ नजर नहीं आ रहा है।
जेडीए की बानगी ले तो हर जोन में अवैध निर्माणों का बोलबाला है। गरीब के घर की ईट से ईट बजाने में माहिर प्राधिकरण के अधिकारी रसूखदारों से पंगा लेने से बचने में भी कोई गुरेज नहीं करते। उदाहरण बतौर न्यू सांगानेर रोड पर बैंक आंफ इंडिया के सामने बीच सड़क पर अवैध निर्माण महारानी रिसोर्ट से सट कर हो रहा है,लेकिन रसूख के चलते कोई कार्यवाई को अंजाम नहीं दिया गया है,बल्कि हो रहे कार्य को अनदेखा करकेIMG_20180401_163207 निर्माणकर्ता को प्रोत्साहित किया जा रहा है।
नगर निगम जयपुर की ले तो राज्य सरकार इस शहरी सरकार के दम पर ही स्मार्ट सिटी का दम भर रही है, लेकिन यहा के चुनिन्दा जनप्रतिनिधि सिर्फ अपनी जेब गर्म करने के अलावा कुछ नहीं कर रहे हैं। परिणाम हमारी पुरा धरोहर नष्ट होती जा रही है। चारदीवारी के मुख्य बाजार भी इससे अछूते नहीं है।
नगर निगम के पूर्व और पश्चिम जोन तो अवैध निर्माणों को लेकर वरियता की सूची में इतने अव्वल है कि गोल्ड मैडल दे दिया जाए तो भी कम है। पश्चिम जोन में IMG_20180218_090529सबसे बूरे हाल पुरानी बस्ती और चौकड़ी विश्वेश्वर जी के है। जिस महकमें में बिना भेट पूजा के एक भी ईट नहीं रखी जाती है, वहां एक के बाद एक अवैध निर्माण और क्षेत्रिय लोगों का पलायन खामोश बैठे जनप्रतिनिधियों की कार्यशैली को भी कठघरे में खड़ा करता है। पुरानी बस्ती में जहां विधायक सुरेन्द्र पारीक का दबदबा है तो चौकड़ी विश्वेश्वर जी में पार्षद के रूम में मनोज भारद्वाज का। मनोज भारद्वाज नगर निगम में उपमहापौर भी है और अपने आप को चारदीवारी में महापौर से कम नहीं समझते हैं। इनके प्रतिनिघित्व कार्यकाल में हुए अवैध निर्माणों ने अपने आप में एक रिकार्ड कायम किया है।
एक के बाद एक आवासीय निर्माण को अवैध तरीके से व्यावसायिक निर्माण में बदले जाने की साजिश को अंजाम पर पहुंचाकर लोगों का पलायन कराया जा रहा IMG_20180218_090532है, उससे साफ जाहिर होता है कि जनसेवा के नाम पर इन जनप्रतिनिधियों ने संबंधित महकमें की आड में सेवा को इंडस्ट0्री बना दिया है।
परिणामस्वरूप शहर की चारदीवारी स्मार्ट सिटी के बजाय बारूद का ढेर बनती जा रही है, जो कभी भी विस्फोट करके जहां जनप्रतिनिधियों के साथ संबंधित महकमें की उपयोगिता पर सवाल एक भयावह हादसे के रूप में सवाल खड़े कर सकती है।
वहीं जयपुर विकास प्राधिकरण की कार्यशैली भी जाहिर कर रही है कि अजगर करे न चाकरी, पंछी करे न काम, दास कबीरा कह गए, सबके दाता राम। याने शहर जाए भाड में नेतागिरी और अफसरशाही का जोर है सात पीढी के सतूने में।

About editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*


A A Tiny Bit Of The Best Tactics For Fantasy Basketball Game
Ravens Helped The Jaguars To Absolve The Five Game Losing Streak
Super Bowl Party Decorations (Video)
Cheap Soccer Jerseys - Where To Get Them
New World Cup Jerseys 2011
The Real Meaning Of Getting Discount Nfl Jerseys From China
Support Your Team With Mlb Dog Apparel And Accessories
Prepare For Hockey Season With Nhl Jerseys
Wolf Pack Unveils New Football Uniforms
What's Happened In Mlb On Hold?
cheap jerseys
wholesale jerseys
cheap nfl jerseys
wholesale jerseys
cheap nba jerseys
wholesale nba jerseys
nba jerseys cheap
cheap jerseys