authentic sports jerseys cheap
cheap authentic stitched nfl jerseys
Thursday , 2 April 2020 [prisna-bing-website-translator]
Breaking News

Pakistan News: Stone pelting at Nankana Sahib Gurdwara in Pakistan Sikh devotees stranded | ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ ने पथराव किया, श्रद्धालु भीतर फंसे; भारत ने घटना की निंदा की

  • भीड़ ने कहा- गुरुद्वारे का नाम बदलकर गुलमान-ए-मुस्तफा कर देंगे, यहां एक भी सिख नहीं रहेगा
  • गुरुद्वारे पर पथराव की घटना से एक दिन पहले सिख श्रद्धालुओं ने गुरुनानक देव की जयंती मनाई थी
  • भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा- गुरुद्वारे पर की गई पत्थरबाजी की घटना से हम चिंतित हैं

Nirala Samaj

Jan 03, 2020, 10:01 PM IST

इस्लामाबाद. लाहौर में शुक्रवार को उग्र भीड़ ने गुरुद्वारा ननकाना साहिब को घेर कर पथराव किया। पाकिस्तान से आ रही रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ सिख श्रद्धालु भीतर फंसे हुए हैं। करीब 7 बजे भीड़ ने गुरुद्वारे को घेर लिया और इसे तोड़ने की धमकी दी। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा- पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारा में हुई पत्थरबाजी को लेकर हम चिंतित हैं। ननकाना साहिब जैसे पवित्र स्थान पर अल्पसंख्यक सिख समुदाय को निशाना बनाया गया, जो कि गुरु नानक देव जी की जन्मभूमि है।

गुरुद्वारा ननकाना साहिब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में लाहौर के करीब स्थित है। मान्यता है कि इसी स्थान पर 1469 में सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव का जन्म हुआ था। इस जगह को पहले राय भोई की तलवंडी कहा जाता था, लेकिन गुरु नानक के सम्मान में इस जगह का नाम बदल दिया गया। गुरुवार को यहां सिख श्रद्धालुओं ने गुरु गोविंद सिंह जयंती मनाई थी।

भीड़ ने गुरुद्वारे का नाम बदलने के नारे लगाए
पाक मीडिया में दिखाए जा रहे एक वीडियो में भीड़ यह कहती दिख रही है कि वह इस इलाके में गुरुद्वारा नहीं चाहती। नारे लगाए जा रहे थे कि जल्द ही इस जगह का नाम गुरुद्वारा ननकाना साहिब से बदलकर गुलमान-ए-मुस्तफा कर दिया जाएगा और यहां एक भी सिख नहीं रहेगा।

सिख लड़की के धर्म परिवर्तन का मामला, मुस्लिम परिवार ने भीड़ का नेतृत्व किया
रिपोर्ट्स के मुताबिक, भीड़ का नेतृत्व मोहम्मद हसन का परिवार कर रहा था। बताया जा रहा है कि हसन ने एक सिख लड़की को अगवाकर उसका धर्म परिवर्तन करवाया। यह लड़की गुरुद्वारे के पंथी की बेटी थी। धर्मपरिवर्तन के बाद हसन को अधिकारियों ने बेरहमी से पीटा। हसन के परिवार का दावा है कि लड़की ने अपनी मर्जी से कानूनी तौर पर विवाह किया। दबाव डालने के बाद भी वह दोबारा सिख धर्म अपनाना नहीं चाहती है। 

Source link

About editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*