Business

3 साल में 5800 परसेंट का रिटर्न, फिर रॉकेट बनने लगे इस कंपनी के शेयर, वजह है गुजरात से मिला एक ऑर्डर

नई दिल्ली. जेनसोल इंजीनियरिंग को गुजरात की सरकारी ऊर्जा कंपनी गुजरात ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड से 1340 करोड़ रुपये का ऑर्डर मिला है. इस ऑर्डर की खबर के बाद कंपनी के शेयर बुधवार को पूरे दिन 5 फीसदी के अपर सर्किट पर चले. हालांकि, बाजार बंद होने तक बीएसई पर यह थोड़ा सा गिरकर 4.83 फीसदी पर समाप्त हुए. कंपनी का शेयर बीएसई पर 1066.40 रुपये के स्तर पर बंद हुआ. यह दिन के कारोबार में 1068 रुपये पर पहुंच गया था.

यह एक मल्टीबैगर शेयर है जिसने 3 साल में अपने निवेशकों को लगभग 5800 परसेंट का रिटर्न दिया है. अब इस ऑर्डर के बाद एक बार फिर इस शेयर में लघु अवधि के लिए जबरदस्त तेजी की उम्मीद जताई जा रही है. आपको बता दें कि जेनसोल में मार्केट के दिग्गज मुकुल अग्रवाल का भी निवेश है.

ये भी पढ़ें- गधे बचाएंगे पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था! चीन का होगा अहम रोल, क्या है माजरा?

क्या मिला है ऑर्डरजेनसोल इंजीनियरिंग को गुजरात की सरकारी कंपनी से 250 मेगावॉट/500MWh बैटरी एनर्जी स्टोरेज प्रोजेक्ट के लिए 1340 करोड़ रुपये का ऑर्डर मिला है. कंपनी का कहना है कि इस प्रोजेक्ट के कारण रिन्यूएबल एनर्जी की उपलब्धता को बढ़ावा मिलेगा और गुजरात डिस्ट्रबियूशन कंपनियों को ऑन डिमांड बिजली मुहैया कराई जा सकेगी. यह देश का पहला इस स्तर का बैटरी एनर्जी स्टोरेज प्रोजेक्ट है. जेनसोन इंजीनियरिंग के एमडी अनमोल सिंह जग्गी ने कहा है कि यह प्रोजेक्ट जेनसोल की रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर में भरोसे और विशेषज्ञता को दर्शाता है.

शेयरों की स्थितिजेनसोल इंजीनियरिंग के शेयरों ने पिछले एक साल में 235 फीसदी का रिटर्न अपने निवेशकों को दिया है. वहीं, बीते 3 साल में यह शेयर 5825 फीसदी ऊपर उठा है. जेनसोल ने पिछले साल 2:1 के अनुपात में बोनस शेयर भी जारी किए थे.

(Disclaimer: यहां बताए गया स्टॉक्स सिर्फ जानकारी देने के उद्देश्य से हैं. यदि आप इनमें से किसी में भी पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह की लाभ या हानि के लिए लिए जिम्मेदार नहीं होगा.)

Tags: Business news, Stock Markets

FIRST PUBLISHED : June 13, 2024, 22:54 IST

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Uh oh. Looks like you're using an ad blocker.

We charge advertisers instead of our audience. Please whitelist our site to show your support for Nirala Samaj