National

शहीद अग्निवीर अजय कुमार की फैमिली को कितना मुआवजा मिला? विपक्ष के दावे की सेना ने खोली पोल, आप भी जान लें आंकड़ा

हाइलाइट्स

अग्निवीर योजना को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर है.अग्निवीर को 18 साल की उम्र में 4 साल के लिए भर्ती किया जा रहा है.अग्निवीर अजय कुमार की शहादत पर रक्षा मंत्रालय ने स्‍पष्‍टीकरण दिया है.

नई दिल्‍ली. हाल ही में ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले अग्निवीर अजय कुमार को लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की चीजें वायरल हो रही हैं. बताया जा रहा है कि उन्‍हें सेना और सरकार की तरफ से कुछ भी नहीं दिया गया. अब इस मामले में सेना और रक्षा मंत्रालय दोनों की तरफ से सफाई दी गई है. रक्षा मंत्रालय का कहना है कि शहीद अग्निवीर अजय कुमार के परिजनों को अब तक 98 लाख से ज्‍यादा रुपये की रकम दी जा चुकी है. कुल मिलाकर उन्‍हें 1.65 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा.

रक्षा मंत्रालय के आधिकारिक एक्‍स हैंडल से एडीजी-पीआई इंडियन आर्मी के हैंडल द्वारा किए गए पोस्‍ट को रीट्वीट किया गया. जिसमें कहा गया, ‘अग्निवीर अजय कुमार को मिलने वाले भत्ते पर स्पष्टीकरण. सोशल मीडिया पर कुछ पोस्टों से पता चला है कि कर्तव्य निभाते हुए अपनी जान गंवाने वाले अग्निवीर अजय कुमार के परिजनों को मुआवजा नहीं दिया गया है. इस बात पर जोर दिया जाता है कि भारतीय सेना अग्निवीर अजय कुमार द्वारा किए गए सर्वोच्च बलिदान को सलाम करती है. अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया. देय कुल राशि में से, अग्निवीर अजय के परिवार को पहले ही 98.39 लाख रुपये का भुगतान किया जा चुका है.’

यह भी पढ़ें:- आखिर क्‍या पहनें और क्‍या नहीं? हिजाब के बाद मुंबई के कॉलेज का स्टूडेंट्स को नया फरमान, अब इस ड्रेस पर लगाई रोक

इस पोस्‍ट में सेना की तरफ से आगे बताया गया, ‘अग्निवीर योजना के प्रावधानों के अनुसार लागू लगभग 67 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और अन्य लाभ, पुलिस सत्यापन के तुरंत बाद अंतिम खाता निपटान पर भुगतान किए जाएंगे. कुल राशि लगभग 1.65 करोड़ रुपये होगी. इस बात पर फिर से जोर दिया जाता है कि शहीद हुए सैनिकों के परिजनों को देय भत्ते का भुगतान शीघ्रता से किया जाता है, जिसमें अग्निवीर भी शामिल हैं.’

Tags: Agniveer, Defence ministry, Indian army

FIRST PUBLISHED : July 3, 2024, 23:57 IST

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Uh oh. Looks like you're using an ad blocker.

We charge advertisers instead of our audience. Please whitelist our site to show your support for Nirala Samaj